top of page

इस्राइल का संयंत्र

इज़राइली दूतावास ने 06 मई, 2021 को यह सूचित किया है कि, अंतर्राष्ट्रीय फेडरेशन ऑफ इंडो-इज़राइल चैंबर्स ऑफ कॉमर्स - IFIICC द्वारा एक साझेदारी शुरू की गई है, जिसके माध्यम से एक इजरायली कंपनी संयुक्त राज्य अरब अमीरात - यूएई में एक ऐतिहासिक परियोजना के लिए भारत में एक अभिनव सौर प्रौद्योगिकी का उत्पादन कर रही है. एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, इज़राइल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच हस्ताक्षर किए गए अब्राहम समझौते ने इस पूरे क्षेत्र में दोनों देशों के बीच व्यापारिक साझेदारी और दोस्ती का मार्ग प्रशस्त किया है. भारत में इज़राइल के दूतावास ने यह जानकारी दी है कि, भारत में इज़राइल के राजदूत रॉन मलका के नेतृत्व में, भारत, इज़राइल और यूएई के बीच एक त्रिपक्षीय साझेदारी की शुरुआत IFIICC (इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ इंडो-इज़राइल ऑफ कॉमर्स ऑफ कॉमर्स) द्वारा की गई है

इस साझेदारी के माध्यम से इस्राइल-आधारित कंपनी, एकोपिया संयुक्त अरब अमीरात में एक ऐतिहासिक परियोजना के लिए भारत में एक अभिनव रोबोट सौर सफाई तकनीक का उत्पादन कर रही है. भारत में इजरायल के राजदूत, रॉन मलका ने यह कहा है कि, भारत में निर्मित और भारत से यूएई में उनके नागरिकों के लाभ के लिए आयातित इज़राइल की अत्याधुनिक तकनीक के इस परस्पर सहयोग की अत्यधिक क्षमता है और यह केवल इसकी शुरुआत है. दुनिया भर में इसराइल और भारत के प्रवासियों के बीच संबंधों को व्यापक बनाने और खाड़ी राज्य में त्रिपक्षीय सहयोग की संभावना तलाशने के लिए IFIICC को संयुक्त अरब अमीरात में लॉन्च किया गया था. इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ इंडो-इज़राइल चेम्बर्स ऑफ कॉमर्स का उद्देश्य दुनिया भर में इज़राइल और भारत के प्रवासियों के बीच वाणिज्य, नवाचार, सांस्कृतिक आदान-प्रदान, सद्भावना और निवेश को प्रोत्साहन और बढ़ावा देना है. यूएई और इजरायल के बीच यह व्यापार साझेदारी अब्राहम समझौते के कारण हुई है जो 13 अगस्त, 2020 को हुआ था. यह संयुक्त राज्य अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात और इजरायल के बीच एक संयुक्त बयान/ स्टेटमेंट है. इज़राइल और यूएई के बीच समझौतों का उल्लेख करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द ‘इजरायल-यूएई सामान्यीकरण समझौता’ है.

90 views0 comments
bottom of page