top of page

समाचार 2.6.21

करेंट अफेयर्स एक पंक्ति को नए रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है, इसमें महाराष्ट्र सरकार और कोरोना वायरस आदि को सम्मलित किया गया है. • हाल ही में जिस राज्य की कुर्रा गुफाओं में पाई गई झींगुर की एक नई प्रजाति का नाम 'इंडिमिमस जयंती' (Indimimus Jayanti) रखा गया है- छत्तीसगढ़ • हाल ही में बांग्लादेश ने अपनी अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने हेतु जिस देश के साथ 200 मिलियन अमेरिकी डॉलर की मुद्रा विनिमय सुविधा को मंज़ूरी दी है- श्रीलंका • जिस देश में बर्ड फ्लू का एच10एन3 (H10N3) स्ट्रेन से संक्रमित पहले शख्स का मामला सामने आया है- चीन • हाल ही में जिस देश की सरकार ने कहा कि अब देश के प्रत्येक दंपत्ति को दो नहीं बल्कि तीन बच्चों को जन्म देने की अनुमति है- चीन



• महाराष्ट्र सरकार ने जितने प्रतिशत ईडब्ल्यूएस कोटे के तहत मराठा आरक्षण को मंज़ूरी दे दी है-10 प्रतिशत • विश्व दूग्ध दिवस (World Milk Day) जिस दिन मनाया जाता है-1 जून • दुनिया की दूसरे नंबर की जिस टेनिस खिलाड़ी ने फ्रेंच ओपन (French Open 2021) से अपना नाम वापस ले लिया है- नाओमी ओसाका • संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रतिवर्ष जिस तारीख को ‘संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिक अंतर्राष्ट्रीय दिवस’ के रूप में मनाया जाता है-29 मई

🛑प्रतिदिन के करेंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है. इसमें आज संयुक्त राष्ट्र संघ और कोविड वैक्‍सीन से संबंधित जानकारी संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है. संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रतिवर्ष 29 मई को ‘संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिक अंतर्राष्ट्रीय दिवस’ के रूप में मनाया जाता है. इस दिवस का मुख्य उद्देश्य शांति स्थापना के लिये शहीद हुए सैनिकों को याद करना एवं उनका सम्मान करना है. यह दिवस वर्ष 2003 में पहली बार मनाया गया था. संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अनुसार, प्रत्येक सदस्य राष्ट्र वैश्विक शांति के लिये अपने संबंधित हिस्से का भुगतान करने के लिये कानूनी रूप से बाध्य है. हाल ही में छत्तीसगढ़ की कुर्रा गुफाओं में पाई गई झींगुर की एक नई प्रजाति का नाम 'इंडिमिमस जयंती' (Indimimus Jayanti) रखा गया है. इस नई प्रजाति का नाम देश के प्रमुख गुफा खोजकर्त्ताओं में से एक प्रोफेसर जयंत विश्वास के नाम पर रखा गया है.



इस नई प्रजाति की पहचान जीनस अरकोनोमिमस सॉस्योर, 1897 के तहत की गई है. इस नई प्रजाति की खोज से झींगुर की एक नई उपजाति 'इंडिमिमस' का जन्म हुआ है. हाल ही में बांग्लादेश ने अपनी अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिये श्रीलंका के साथ 200 मिलियन अमेरिकी डॉलर की मुद्रा विनिमय सुविधा को मंज़ूरी दी है. करेंसी स्वैप अथवा मुद्रा विनिमय का आशय दो देशों के बीच पूर्व निर्धारित नियमों और शर्तों के साथ मुद्राओं के आदान-प्रदान हेतु किये गए समझौते या अनुबंध से है. यह पहली बार है कि बांग्लादेश किसी दूसरे देश की मदद के लिये सामने आया है, इसलिये इस घटना को एक प्रकार से ऐतिहासिक माना जा सकता है. भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) ने एचडीएफसी बैंक पर 10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. भारतीय रिजर्व बैंक ने 28 मई को बताया कि उसने एचडीएफसी बैंक पर दस करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. बैंक पर आरोप है कि उसने बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट 1949 के सेक्शन 6(2) का उल्लंघन किया है. आरबीआई ने अपने रेगुलेटरी अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए यह कार्रवाई की है. चीन के अंतरिक्ष अधिकारी के मुताबिक जून 2021 में चीन के नए अंतरिक्ष स्टेशन पर तीन महीने के मिशन के लिए अंतरिक्ष यात्रियों का तीन सदस्यीय दल भेजा जाएगा. स्टेशन के पहले चालक दल के लिए योजना की पुष्टि तियान्हे स्टेशन के लिए ईंधन और आपूर्ति के साथ एक स्वचालित अंतरिक्ष यान लांच करने के बाद की गयी. तियान्हे चीन द्वारा लॉन्च किया गया तीसरा और सबसे बड़ा अंतरिक्ष स्टेशन है. इस स्टेशन के कोर मॉड्यूल को 29 अप्रैल 2021 को लॉन्च किया गया था. शेनझोउ 12 कैप्सूल चालक दल को ले जाएगा. इस कैप्सूल को उत्तर पश्चिमी चीन में जिउक्वान बेस से लॉन्च किया जाएगा.

🛑टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 02 जून 2021 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से नाओमी ओसाका और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं. इफको के अनुसार, नैनो यूरिया लिक्विड को इसके वैज्ञानिकों और इंजीनियरों द्वारा कई वर्षों के शोध के बाद स्वदेशी तकनीक के माध्यम से विकसित किया गया है, जिसे नैनो बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर, कलोल में 'आत्मनिर्भर भारत' और 'आत्मनिर्भर कृषि' के अनुरूप विकसित किया गया था. फसलों के पोषक तत्वों की दक्षता में सुधार के लिए नैनो-तकनीक से उत्पादित यूरिया को नैनो यूरिया कहा जाता है. यह नैनो यूरिया पारंपरिक तरल यूरिया की जगह लेगा और यह अपनी (यूरिया की) आवश्यकता को कम से कम 50 प्रतिशत तक कम कर सकता है. नाओमी ओसाका ने 30 मई को पहले दौर के मुकाबले में जीत हासिल की थी. फ्रेंच ओपन के पहले राउंड में जीत दर्ज करने के बाद मीडिया से बात नहीं करने पर नाओमी ओसाका पर 15,000 डालर (लगभग 11 लाख रुपये) का जुर्माना लगाया गया है और आगे से ऐसा करने पर कठोर सजा की चेतावनी भी दी गई है.



ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंटों के नियमों के अनुसार, मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में यदि कोई खिलाड़ी मीडिया से बात करने से मना करता है तो उन पर 20,000 अमेरिकी डॉलर तक का जुर्माना लगाया जा सकता है. ग्रैंड स्लैम नियमों का एक मुख्य तत्व मीडिया के साथ जुड़ने की खिलाड़ियों की जिम्मेदारी है, चाहे उनके मैच का परिणाम कुछ भी हो. यह मामला देश के पूर्वी जियांगसु प्रांत में पता चला है. यह जानकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने 01 जून 2021 को दी. झेंजियांग शहर के एक 41 वर्षीय व्यक्ति में बर्ड फ्लू का स्ट्रेन मिला है. फिलहाल उसकी हालत स्थिर है. चीन के अधिकारियों ने कहा कि मरीजों में 28 मई को H10N3 एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस होने का पता चला था. H10N3, बर्ड फ्लू वायरस का एक कम रोगजनक या अपेक्षाकृत कम गंभीर स्ट्रेन है और इसके बड़े पैमाने पर फैलने का जोखिम बहुत कम है. चीन में एवियन इन्फ्लूएंजा के कई अलग-अलग स्ट्रेन हैं और कुछ छिटपुट रूप से लोगों को संक्रमित करते हैं. बर्ड फ्लू फैलाने के लिए कई वायरस जिम्मेदार होते हैं. विश्वभर में दूध से पोषित हो रहे लोगों और इससे चलने वाली आजीविका के कारण इस दिन को विशेष महत्व दिया जाता है. इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य विश्वभर में दूध को वैश्विक भोजन के रूप में मान्यता देना है. दूध और दूध से बने पदार्थों के फायदे और इनकी खासियत बताने हेतु इस दिन को शुरू किया गया था. प्रत्येक साल 01 जून को विश्वभर के लोग विश्व दुग्ध दिवस मनाते हैं. संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन ने इसकी स्थापना की थी. विश्व दुग्ध दिवस 01 जून को ही चुना गया क्योंकि संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन द्वारा इसे मान्यता दिए जाने से पहले इसी दिन बहुत से देश विश्व दुग्ध दिवस पहले से ही मना रहे थे. 🛑त्सांग यिन-हंग ने केवल 25 घंटे और 50 मिनट में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है, जो इस चोटी को सबसे तेज गति से फतह करने वाली पहली महिला बन गई हैं. इस 45 वर्षीय महिला ने 39 घंटे और 6 मिनट के पहले के रिकॉर्ड को तोड़ा है, जिसे एक नेपाली महिला पर्वतारोही, फुंजो झांगमु लामा ने बनाया था. त्सांग यिन-हंग ने 23 मई को एक बेस कैंप के बीच कपड़े बदलने के लिए केवल दो ब्रेक लेने के बाद यह ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है, जोकि 29,032-फुट शिखर पर 17,390 फीट की ऊंचाई पर स्थित है. उन्होंने पिछले रिकॉर्ड को लगभग 13 घंटे से अधिक समय से तोड़ा है. त्सांग यिन-हंग ने यह बताया कि, साउथ कर्नल के सबसे ऊंचे शिविर के रास्ते में उनका सामना मुश्किल से किसी अन्य पर्वतारोही से हुआ था और उसके बाद, वह केवल उन लोगों से मिलीं, जो इस पर्वत की चोटी से उतर रहे थे, जिससे पहाड़ पर चढ़ने की उनकी गति प्रभावित नहीं हुई. त्सांग यिन-हंग ने यह भी माना कि, आपकी काबिलियत और टीम वर्क के अलावा, आपकी किस्मत का भी आपकी सफलता में काफी योगदान होता है.



त्सांग यिन-हंग ने इस महीने की शुरुआत में पिछली यात्रा के दौरान पहाड़ पर चढ़ने का प्रयास किया था, हालांकि, खराब मौसम ने उसे पीछे मुड़ने और फिर, वापस लौटने के लिए मजबूर कर दिया था. • त्सांग यिन-हंग का जन्म चीन की मुख्य भूमि में हुआ था, लेकिन बाद में जब वह 10 साल की थीं, तब वे अपने परिवार के साथ हांगकांग चली गईं थीं. • उन्होंने 11 साल पहले एक पर्वतारोही के रूप में अपना प्रशिक्षण शुरू किया और वर्ष, 2017 में पहली बार माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई की थी. दूसरा रिकॉर्ड जो टूटा है, उसमें एवरेस्ट पर चढ़ने वाले सबसे उम्रदराज अमेरिकी का रिकॉर्ड शामिल है. शिकागो के 75 वर्षीय सेवानिवृत्त वकील आर्थर मुइर एवरेस्ट पर चढ़ने वाले सबसे उम्रदराज अमेरिकी बन गए हैं. उन्होंने वर्ष, 2009 में 67 साल की उम्र में एवरेस्ट फतह करने वाले बिल बर्क द्वारा बनाए गए सबसे पुराने अमेरिका के पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया था. पर्यटन विभाग के अनुसार, लगभग 350 लोगों ने इस वसंत में पहाड़ पर चढ़ाई की, क्योंकि चढ़ाई करने वाले समूह खराब मौसम और COVID-19 के प्रकोप से जूझ रहे थे. सबसे तेज पुरुष पर्वतारोही का रिकॉर्ड शेरपा गाइड लक्पा गेलू के नाम है, जिन्होंने इस चोटी की चढ़ाई केवल 10 घंटे 56 मिनट में पूरी की थी. 🛑दुनिया भर के किसानों के लिए दुनिया का पहला नैनो यूरिया लिक्विड इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) द्वारा 31 मई, 2021 को प्रस्तुत किया गया था. इफको ने 31 मई, 2021 को भारत में ऑनलाइन-ऑफलाइन मोड में आयोजित अपनी 50वीं वार्षिक आम सभा के दौरान यह बड़ा खुलासा किया. इफको के अनुसार, नैनो यूरिया लिक्विड को इसके वैज्ञानिकों और इंजीनियरों द्वारा कई वर्षों के शोध के बाद स्वदेशी तकनीक के माध्यम से विकसित किया गया है, जिसे नैनो बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर, कलोल में 'आत्मनिर्भर भारत' और 'आत्मनिर्भर कृषि' के अनुरूप विकसित किया गया था. #IFFCO introduces the world’s 1st Nano Urea Liquid. Developed indigenously by IFFCO's scientists and engineers the product takes its inspiration from the Prime Minister's call for reducing the use of Urea in the soil.#IFFCONanoUrea #IFFCONano #NanoUrea #Sustainability pic.twitter.com/qu78XKEu6C



फसलों के पोषक तत्वों की दक्षता में सुधार के लिए नैनो-तकनीक से उत्पादित यूरिया को नैनो यूरिया कहा जाता है. यह नैनो यूरिया पारंपरिक तरल यूरिया की जगह लेगा और यह अपनी (यूरिया की) आवश्यकता को कम से कम 50 प्रतिशत तक कम कर सकता है. नैनो यूरिया लिक्विड को पौधों के पोषण के लिए प्रभावी और कुशल पाया गया है, जो बेहतर पोषण गुणवत्ता के साथ उत्पादन भी बढ़ाता है. इफको के अनुसार, भूमिगत जल की गुणवत्ता पर भी इस नैनो यूरिया लिक्विड का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा, जो जलवायु परिवर्तन और सतत विकास पर प्रभाव के साथ ग्लोबल वार्मिंग में कमी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. इस नैनो यूरिया लिक्विड की शुरूआत महत्वपूर्ण है क्योंकि किसानों द्वारा इसका उपयोग मिट्टी में यूरिया के अतिरिक्त उपयोग को कम करके संतुलित पोषण कार्यक्रम को बढ़ावा देगा. • यह नैनो यूरिया लिक्विड किफ़ायती होगा क्योंकि यह सस्ता होगा और इससे किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलेगी. • नैनो यूरिया में 500 मिलीलीटर की बोतल में 40,000 ppm नाइट्रोजन होता है, जो पारंपरिक यूरिया के एक बैग द्वारा प्रदान किए गए नाइट्रोजन पोषक तत्व के प्रभाव के बराबर है. • किसानों के लिए नैनो यूरिया की 500 मिलीलीटर की बोतल की कीमत 240 रुपये होगी, जो पारंपरिक यूरिया के एक बैग की कीमत से 10 प्रतिशत कम है. इफको ने नैनो यूरिया की प्रभावशीलता का परीक्षण करने के लिए पूरे भारत में 94 से अधिक फसलों पर लगभग 11,000 किसान क्षेत्र परीक्षण (FFTs) किए थे. हाल ही में देश भर में 94 फसलों पर परीक्षण किए गए, जिसमें उपज में औसतन 08 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है. • इफको ने यह सूचित किया है कि, इस नैनो यूरिया लिक्विड का उत्पादन जून, 2021 तक शुरू हो जाएगा, इसके बाद जल्द ही नैनो यूरिया लिक्विड की वाणिज्यिक बिक्री शुरू हो जाएगी. • यह नैनो यूरिया इफको के ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर बिक्री के अलावा, मुख्य रूप से सहकारी बिक्री और विपणन चैनल के माध्यम से किसानों को उपलब्ध होगा.


46 views0 comments

Recent Posts

See All
bottom of page