top of page

समाचार 3.6.21

करेंट अफेयर्स एक पंक्ति को नए रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है, इसमें राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और कोरोना वायरस आदि को सम्मलित किया गया है. • सुप्रीम कोर्ट के जिस रिटायर्ड जस्टिस ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) के नए अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाल लिया है- अरुण कुमार मिश्रा • भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) का नया अध्यक्ष जिसे नियुक्त किया गया है- टीवी नरेंद्रन • हाल ही में जिस राज्य सरकार ने 'अंकुर (Ankur)' नाम की एक योजना शुरू की है- मध्य प्रदेश • वैश्विक अभिभावक दिवस (Global Day of Parents) जिस दिन मनाया जाता है-1 जून



• असम राइफल्स के नए महानिदेशक के रूप में जिसने अपना पदभार संभाल लिया है- लेफ्टिनेंट जनरल प्रदीप चंद्रन नायर • राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (एनएसओ) के आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय अर्थव्यवस्था में जितने प्रतिशत की गिरावट आई है-7.3 प्रतिशत • घरेलू सत्र 2021-22 के लिए मुंबई टीम के मुख्य कोच के रूप में जिसे नियुक्त किया गया है- अमोल मजूमदार • अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने असगर अफगान को राष्ट्रीय टीम की कप्तानी से हटाकर जिसे नया कप्तान नियुक्त किया है- हशमतुल्ला शाहिदी

🛑प्रतिदिन के करेंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है. इसमें आज लेफ्टिनेंट जनरल प्रदीप चंद्रन नायर और कोविड वैक्‍सीन से संबंधित जानकारी संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है. लेफ्टिनेंट जनरल प्रदीप चंद्रन नायर ने देश से सबसे पुराने अर्द्धसैन्य बल असम राइफल्स के महानिदेशक के तौर पर कार्यभार संभाला लिया है. असम राइफल्स बल पूर्वोत्तर क्षेत्र की सुरक्षा का जिम्मा संभालता है. यह बल सुरक्षा मुहैया कराने, जनकल्याण के कार्य करने और विकास कार्यों में मदद करने समेत विविध भूमिकाएं निभाता है. लेफ्टिनेंट जनरल नायर इससे पहले भारतीय सेना के भर्ती विभाग के महानिदेशक थे. मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) ने कहा कि मुंबई के रणजी ट्रॉफी विजेता कप्तान अमोल मजूमदार को सीजन 2021-2022 के लिए मुंबई सीनियर पुरुष टीम का कोच नियुक्त किया गया है. अमोल मजूमदार ने 2006-07 में अपनी कप्तानी में मुंबई की टीम को रणजी ट्रॉफी खिताब दिलाया था.



मजूमदार रमेश पोवार की जगह लेंगे, जिन्हें भारत की सीनियर महिला क्रिकेट टीम का कोच नियुक्त किया गया है. अमोल मजूमदार ने 171 फर्स्ट क्लास मैचों में 11167 रन बनाए हैं. इस दौरान 48.13 की बेहतरीन औसत से 30 शतक और 60 अर्धशतक भी उनके नाम हैं. अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) ने राष्ट्रीय टीम के कप्तान के पद से असगर अफगान को हटा दिया है. हशमतुल्ला शाहिदी को राष्ट्रीय टीम का नया वनडे और टेस्ट कप्तान नियुक्त किया गया है, जबकि रहमत शाह दोनों प्रारूपों के लिए उप-कप्तान के रूप में काम करेंगे. इसके अलावा, यह निर्णय लिया गया कि ऑलराउंडर राशिद खान टी20 टीम के उप-कप्तान बने रहेंगे. हशमतुल्लाह शाहिदी अफगानिस्तान की तरफ से 5 टेस्ट मैच खेल चुके हैं, जिसमें उन्होंने 58.83 के शानदार औसत से 353 रन बनाए हैं. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सरकार ने 'अंकुर (Ankur)' नाम की एक योजना शुरू की है. इस योजना के तहत नागरिकों को मानसून के दौरान पेड़ लगाने के लिए सम्मानित किया जाएगा. इस पहल में भाग लेने वाले नागरिकों को कार्यक्रम में जनभागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्राणवायु पुरस्कार दिया जाएगा. प्रतिभागियों को पौधा लगाते समय एक तस्वीर अपलोड करनी होगी और फिर 30 दिनों तक पौधे की देखभाल करने के बाद दूसरी तस्वीर अपलोड करनी होगी. हर साल 1 जून को वैश्विक अभिभावक दिवस (Global Day of Parents) मनाया जाता है. वर्ष 2012 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में पहली जून को इस दिवस को मनाने की घोषणा की गई थी. विश्‍वभर में माता-पिता के प्रति सम्‍मान प्रकट करने के लिए हर वर्ष वैश्विक अभिभावक दिवस मनाया जाता है. इस दिन बच्चों के प्रति अभिभावकों की प्रतिबद्धता और कर्तव्‍यों की सराहना की जाती है. 🛑सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस अरुण कुमार मिश्रा ने हाल ही में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) के नए अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाल लिया है. उन्हें एक दिन पहले ही इस पद के लिए नियुक्त किया गया था. प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय नियुक्ति समिति ने इनकी नियुक्ति पर मुहर लगा दी थी. 31 मई 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली समिति ने उनके नाम को मंजूरी दी थी. एनएचआरसी के अध्यक्ष का पद पिछले छह महीने से खाली था. जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस महेश कुमार मित्तल और आईबी के पूर्व निदेशक डॉ राजीव जैन को एनएचआरसी का सदस्य बनाया गया है. प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय समिति में गृह मंत्री अमित शाह, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राज्य सभा के उपसभापति हरिवंश शामिल थे. इससे पहले राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस एचएल दत्तू थे. वे पिछले साल दिसंबर में इसके अध्यक्ष पद से रिटायर हो गए थे. तब से एनएचआरसी में अध्यक्ष का पद खाली था. इस पद के लिए तीन पूर्व मुख्य न्यायाधीशों को भी शॉर्टलिस्ट किया गया था. लेकिन समिति ने जस्टिस अरुण कुमार मिश्रा को चुना. मध्य प्रदेश के जबलपुर के रहने वाले जस्टिस अरुण कुमार मिश्रा ने साइंस में एमए की डिग्री लेने के बाद क़ानून की पढ़ाई की.



उनके पिता हरगोविंद मिश्रा जबलपुर हाई कोर्ट के जज थे, जबकि उनके परिवार में कई रिश्तेदार नामी वकील हैं. उनकी बेटी भी दिल्ली हाई कोर्ट की वकील हैं. लगभग 21 सालों तक वकालत करते रहने के बावजूद उन्होंने क़ानून पढ़ाने का काम भी किया और मध्य प्रदेश में ग्वालियर के जीवाजी विश्वविद्यालय से जुड़े रहे. जस्टिस अरुण मिश्रा ने साल 1978 में एक वकील के रूप में नामांकन किया था. जिसके बाद वे 1998-99 में बार काउंसिल ऑफ इंडिया के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष चुने गए थे. इसके बाद उन्हें अक्टूबर 1999 में मध्य प्रदेश है कोर्ट का जज नियुक्त किया गया था. बाद में उन्होंने 07 जुलाई 2014 को सुप्रीम कोर्ट में पदोन्नत होने से पहले राजस्थान हाई कोर्ट और कलकत्ता हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के रूप में कार्य किया. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) एक स्वतंत्र वैधानिक संस्था है. इसकी स्थापना मानव अधिकार संरक्षण अधिनियम, 1993 के प्रावधानों के तहत 12 अक्टूबर 1993 को की गई थी. मानवाधिकार आयोग का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है. यह संविधान द्वारा दिये गए मानवाधिकारों जैसे - जीवन का अधिकार, स्वतंत्रता का अधिकार और समानता का अधिकार आदि की रक्षा करता है और उनके प्रहरी के रूप में कार्य करता है.

🛑दिल्ली में इस साल लगेंगे 33 लाख पौधे बीएस संवाददाता | दिल्ली के पर्यावरण एवं वन मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली सरकार 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस से दिल्ली में वृहद वृक्षारोपण अभियान की शुरुआत करेगी। इस दौरान लोगों को प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी के पौधे लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। केंद्र सरकार ने इस साल 18 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य दिया है, लेकिन दिल्ली सरकार ने लक्ष्य से ज्यादा 33 लाख पौधे लगाने का निर्णय लिया है। राय ने कहा कि इस कोरोना काल में जिसका प्रतिरोधक तंत्र ठीक है, वह इसकी लड़ाई को लड़ कर जीत रहा है और जिसका कमजोर है, वह इस लड़ाई को हार रहा है। दिल्लीवासियों से अपील है कि सभी लोग पौधारोपण अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें, ताकि हम अपनी प्रतिरोधक क्षमता को प्राकृतिक तरीके से बढ़ा सकें। प्रतिरोधक तंत्र बढ़ाने वाली जड़ी-बूटियों के पौधे मसलन कढ़ी पत्ता, आंवला, बेहरा, जामुन, अमरूद, अर्जुन सहजन, बेल पत्ता, नींबू, तुलसी, एलोवेरा, गिलोय आदि दिल्ली के अंदर सरकारी नर्सरी से निःशुल्क दिए जाएंगे। दिल्ली में पीएम-10 को नियंत्रित करने के लिए सड़क के किनारे छोटे पौधे भी लगाए जाएंगे। राय ने बताया कि वर्ष 2017 में दिल्ली का हरित क्षेत्र 299 वर्ग किमी था, जिसे केजरीवाल सरकार ने बढ़ाकर वर्ष 2019 में 325 वर्ग किमी कर दिया है। इस साल का अभियान पूरा होने के बाद दिल्ली का हरित क्षेत्र बढ़कर 350 वर्ग किमी होने की उम्मीद है। कीवर्ड जड़ी-बूटी, पौधे, दिल्ली, पर्यावरण, गोपाल राय,

  • 5जी के इस्तेमाल के लिए धीमी किंतु ठोस शुरुआत करनी होगी

  • टीकों के जरिये जीतनी होगी कोरोना की जंग

  • जमीनी हकीकत

  • नकदी की व्यवस्था देर से उठा अच्छा कदम

  • केरल में 1 जून को आ सकता है मॉनसून

बाजार

  • विदेशी निवेशकों को मिलेगा ज्यादा समय

  • समस्याओं के बावजूद विश्लेषकों को भा रहे एफएमसीजी शेयर

  • भारत में होगी 2-3 लाख करोड़ रुपये की रिकॉर्ड इक्विटी आपूर्ति

  • एशियाई बाजार कर सकते हैं बेहतर प्रदर्शन, भारत पर हैं ओवरवेट : नोमूरा

  • आईएफएससी के लिए ऑफ मार्केट हस्तांतरण की इजाजत

कंपनियां

  • लॉकडाउन से पहले शुरू हो गई थी श्रम लागत में कटौती

  • सीईओ के वेतन-भत्तों में भारी बढ़ोतरी

  • एस्सार के लिए बढ़ी बोली

  • नोवेलिस की होगी अलेरिस

  • मेड इन इंडिया कारों का अमेरिका में जलवा

अर्थव्यवस्था और नीति

  • निर्यात में तेजी जारी, व्यापार घाटा कम

  • पीएलआई में बदलाव का सुझाव

  • स्टेट बैंक के अर्थशास्त्रियों ने घटाया वृद्धि दर का अनुमान

  • ज्यादा ग्राहक आय बढऩे की गारंटी नहीं

  • कोरोना ने थामी विनिर्माण रफ्तार


40 views0 comments

Recent Posts

See All
bottom of page