top of page

सोना कितना शोना है ©डॉ आनंद प्रदीक्षित

Updated: Apr 11, 2021

सोना कितना शोना है---

डॉ आनंद प्रदीक्षित 😊

नींद कोई बेकार की बात नहीं है। नींद इसलिए आवश्यक है क्योंकि शरीर की फैक्ट्री एक ही पारी में चलती है दो पारियों में नहीं चलती। सिनेमा में प्रोजेक्टर दो होते हैं एक रील एक प्रोजेक्टर पर चलती है तब तक दूसरा खाली रहता है फिर दूसरे पर दूसरी रील चलाई जाती है तब पहला विश्राम कर लेता है किंतु शरीर हमारा एक ही है और ताउम्र ऐसे ही चलता रहता है इसे चलाये रखने के लिए विश्राम की आवश्यकता है और यह विश्राम हमें सोकर मिलता है ।हालांकि हमारा शरीर सोते समय भी कार्यरत रहता है शरीर में टूट-फूट की मरम्मत होती रहती है लेकिन यह स्लीप मोड बैकग्राउंड में चलने वाले एप्स की तरह काम करता है इसलिए हमें नींद से घृणा नहीं करनी चाहिए। लेकिन 6 से 8 घंटे की नींद ही उचित है। आईएएस पीसीएस की तैयारी करने वालों को सिर्फ 6 घंटे की नींद लेनी चाहिए इसके बाद सेलेक्ट हो जाएं तो आप 8 घंटे तक प्रतिदिन आराम से जीवन भर सोएं लेकिन समस्या यह है कि जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है नींद कम होती जाती है ।

कहा गया है कि

"कै कोई जागे रोगी भोगी कै चातक कै चोर।

कै कोई जागे रति बिरहिया लगी राम सो डोर ।।"

रोगी जागता ही रहता है क्योंकि रोग उसे सोने नहीं देता।

भोगी का भोग नहीं सोने देता ,सुना होगा सुहानी चांदनी रातें हमें सोने नहीं देती एक और पुराना गीत है जब जाग उठे अरमान तो कैसे नींद आए और यह तो सुना ही होगा कि मुझे नींद ना आए मुझे चैन ना आए न जाने कहां दिल खो गया 😊

यति यानी योगी भी नहीं सोते पता नहीं क्यों नहीं सोते !बिरही नहीं सोते क्योंकि विरह की अग्नि उन्हें जगाए रखती है।

चातक प्रेमी को पुकारता है इसलिए नहीं सोता।

चोर को दूसरों का धन चुराना है इसलिए नहीं सोता।

बेटे ! बिना सोए हम जाग नहीं सकते, जागे रह नहीं सकते और जागेंगे नहीं तो काम कैसे करेंगे।

स्मरण रखो जब तुम सोते हो तो तुम्हारा भाग्य सोता है जब जागते हो तो तुम्हारा भाग्य जागता है ।

"न हि सुप्तस्य सिंहस्य प्रविशन्ति मुखे मृगाः"

अतः जागो !जागते रहो! किंतु जागते रहने के लिए कम से कम 6 घंटे सुख की नींद लो और अपनी नींद के कुछ बहाने ढूंढ लो जिनसे तुम्हें नींद आती हो जैसे कि कुछ खास खुशबू या तुम्हारे बेडरूम का और बेडशीट का विशेष रंग, विशेष संगीत अथवा कुछ भी विशेष जिससे कि तुम्हें तुरंत नींद आ जाए।

सो न ज़रूरी है लेकिन 6 घंटे से अधिक नहीं ।

नीली बत्ती सायरन होटल बड़ा पद चमकती हुई पीतल की नेम प्लेट गाड़ी पर लगी हुई पदनाम की प्लेट चपरासी और अर्दली फॉलोअर्स और पूरे जिले की जनता कलेक्टर साहब का इंतजार कर रही है और वह कलेक्टर साहब बेटे आप हैं इसलिए सोइए ताकि आप 18 घंटे जाग सके और मेहनत कर सके लेकिन सिर्फ 6 घंटे सोइये।



244 views2 comments

Recent Posts

See All

Kriya Dhyan बिल्कुल नया कोर्स "क्रिया ध्यान" स्मृति बढ़ाने के लिए सब्जेक्ट्स पर कंसन्ट्रेट यानी ध्यान केंद्रित करने के लिए मन की उद्विग्नता अशांति दूर करने के लिए आलस्य टालमटोल procrastination दूर करने

bottom of page