top of page

17.5.21 समाचार विचार

स्पेन के राफेल नडाल ने इटैलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट में पुरुष एकल वर्ग का खिताब अपने नाम कर लिया है. उन्होंने विश्व के नंबर-1 खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच को हराकर ये जीत दर्ज की. उन्होंने कोरोना वायरस के कहर के बीच टेनिस फैंस को बड़ी खुशी दी है. राफेल नडाल ने दो घंटे 49 मिनट तक चले इस मुकाबले में जोकोविच को 7-5, 1-6, 6-3 से हराकर इटैलियन ओपन के खिताब पर कब्जा किया. राफेल नडाल और नोवाक जोकोविच के बीच फाइनल मुकाबले में बेहद ही कड़ी टक्कर देखने को मिली. लेकिन राफेल नडाल ने आखिर में बाजी मार ली. राफेल नडाल 12वीं बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे थे और उन्होंने 10वीं बार यह खिताब जीता. वहीं नडाल और जोकोविच के बीच छठी बार इटैलियन ओपन का खिताबी मुकाबला खेला गया जिसमें स्पेनिश खिलाड़ी ने सर्बियाई खिलाड़ी को पराजित किया.



राफेल नडाल ने इसके साथ ही जोकोविच के 36 एटीपी मास्टर्स 1000 खिताब जीतने की बराबरी कर ली. यह चौथा मौका है जब उन्होंने एक टूर्नामेंट दस या उससे अधिक बार जीता. उन्होंने 13 बार फ्रेंच ओपन, 12 बार बार्सिलोना ओपन और 11 बार मोंटे कार्लो की ट्रॉफी जीती है. यह नडाल और जोकोविच के बीच अब तक का 57वां मुकाबला था. इसमें नडाल ने 28वीं जीत हासिल की है. जोकोविच ने 29 बार आपसी भिड़ंत को अपने नाम किया है. नडाल ने 13 बार फ्रेंच ओपन जीता है तो जोकोविच ने 9 बार ऑस्ट्रेलियन ओपन अपने नाम किया है. फेडरर ने सबसे ज्यादा 8 बार विम्बलडन खिताब जीता है. तीनों खिलाड़ियों का यूएस ओपन में अच्छा प्रदर्शन रहा है. पोलैंड की इगा स्विएतेक ने चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिस्कोवा को हराकर इटैलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट में महिला एकल वर्ग का खिताब जीत लिया. स्विएतेक ने 46 मिनट तक चले एकतरफा फाइनल मुकाबले में नौवीं रैंकिंग की प्लिस्कोवा को लगातार सेटों में 6-0, 6-0 से हराकर खिताब जीता. इस जीत के साथ ही इगा स्विएतेक ने अपना पहला डब्ल्यूटीए 1000 खिताब जीता जबकि उनके करियर का यह तीसरा खिताब है. उन्होंने साल 2020 में फ्रेंच ओपन और फरवरी में एडिलेड का खिताब जीता था.

🛑17 मई: विश्व दूरसंचार और सूचना सोसायटी दिवस विश्व दूरसंचार और सूचना सोसायटी दिवस 17 मई 2021 को सम्पूर्ण विश्व में मनाया गया. इस दिन सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के फायदों के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा की जाती है. इस दिन को मनाने का उद्देश्य दूरदराज के इलाकों में रहने वाले लोगों को सूचना और संचार प्रौद्योगिकी सुलभ कराना है. इस दिन का मुख्य उद्देश्य इंटरनेट, टेलीफोन और टेलीविजन के द्वारा तकनीकी दूरियों को कम करना और आपसी संचार सम्पर्क को बढ़ाना भी है. • यह दिन अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) की स्थापना और वर्ष 1865 में पहले अंतर्राष्ट्रीय टेलीग्राफ समझौते पर हस्ताक्षर होने की स्मृति में मनाया जाता है. • आधुनिक युग में फोन, मोबाइल और इंटरनेट लोगों की प्रथम आवश्यकता बन गये हैं. इसके बिना जीवन की कल्पना करना बहुत ही मुश्किल हो चुका है.



• पहले जहाँ किसी से संपर्क साधने के लिए लोगों को काफ़ी मशक्कत करनी पड़ती थी, वहीं आज मोबाइल और इंटरनेट ने इसे बहुत ही आसान बना दिया है. व्यक्ति कुछ ही सेकेंड में बेहद असानी से दोस्तों, परिवार और सगे संबधियों से संपर्क साध सकता है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने मानवीय कार्य को काफी सुविधाजनक बना दिया है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का आरंभ 1950 के दशक में हुआ था. मोबाइल फोन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आपके कई कामों को आसान बना सकते हैं. मोबाइल फोन में आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के जरिये आसानी से बिना टाइप किये यानी कि सिर्फ बोलकर टेक्स्ट मैसेजिंग कर सकते हैं. विश्व दूरसंचार दिवस मनाने की परंपरा 17 मई 1865 में शुरू हुई थी, लेकिन आधुनिक समय में इसकी शुरुआत वर्ष 1969 में हुई. तभी से पूरे विश्व में इसे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. यह दूरसंचार की क्रांति है, जिसकी बदौलत भारत जैसे कुछ विकासशील देशों की गिनती भी विश्व के कुछ ऐसे देशों में होती है, जिनकी अर्थव्यवस्था तेज़ी से रफ्तार पकड़ रही है. आज हम दूरसंचार के मामले में काफी आगे निकाल चुके हैं. 🛑मैक्सिको की एंड्रिया मेजा ने हाल ही में मिस यूनिवर्स 2020 का खिताब अपने नाम कर लिया है. एंड्रिया मेजा को पूर्व मिस यूनिवर्स जोजीबिनी तुंजी ने मिस यूनिवर्स का ताज पहनाया. बता दें कि साल 2019 में दक्षिण अफ्रीका की जोजीबिनी तुंजी मिस यूनिवर्स का खिताब अपने नाम करने वाली पहली अश्वेत महिला थीं. एंड्रिया मेजा ने दुनियाभार की सुंदरियों को पीछे छोड़ते हुए यह खिताब अपने नाम किया है. वहीं मिस इंडिया एडलाइन कैस्टेलिनो इस मिस यूनिवर्स के ताज से बस कुछ कदम ही दूर रह गईं. मिस इंडिया एडलाइन कैस्टेलिनो टॉप-4 में ही जगह बना पाई थी. एंड्रिया मेजा ने विश्वभर की 73 केंडिडेट्स को हराते हुए 69वें मिस यूनिवर्स का ताज अपने नाम कर लिया. फ्लोरिडा में सेमिनोल हार्ड रॉक होटल में आयोजित इस 69वें मिस यूनिवर्स समारोह में एंड्रिया मेजा को पूर्व मिस यूनिवर्स जोजीबिनी तुंजी ने विश्व सुंदरी का ताज पहनाया.

इस प्रतियोगिता में भारत की एडलाइन कैस्टेलिनो को तीसरी रनर-अप का खिताब मिला तो वहीं मिस डोमिनिकन रिपब्लिक किम्बर्ली जिमेनेज चौथे रनर-अप रही. साथ ही सेकेंड रनर-अप मिस पेरू जेनिक मैकेटा बनी. एडलाइन कैस्टेलिनो ने साल 2020 में मिस दीवा यूनिवर्स का खिताब अपने नाम किया था. मेंग्लुरु की रहने वाली एडलाइन कैस्टेलिनो को पिछले साल की विजेता वर्तिका सिंह ने ताज पहनाया था. कोविड-19 (COVID-19) के कारण इस बार प्रतियोगिता में देरी हुई थी. जोजिबिनी टुंजी प्रतियोगिता के इतिहास में सबसे लंबे समय तक राज करने वाली मिस यूनिवर्स हैं. एंड्रिया मेजा के इंस्टाग्राम अकाउंट के मुताबिक, वह चिहुआहुआ टूरिज्म की एंबेसडर हैं. वे एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम करती हैं. एंड्रिया सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. वे अपने स्व-शीर्षक एथलेटिक कपड़ों के ब्रांड एंड्रिया मेजा एक्टिववियर की मालिक भी हैं. एंड्रिया ने अपनी जीत के साथ एक इतिहास भी रच दिया, क्योंकि वे मिस यूनिवर्स का ताज पहनने वाली तीसरी मैक्सिकन महिला बनीं. एंड्रिया मेजा एक मॉडल होने के साथ-साथ एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी हैं, जो लैंगिक असमानता और लैंगिक हिंसा के बारे में काफी मुखर हैं. 26 साल की एंड्रिया मेजा का जन्म 13 अगस्त को चिहुआहुआ शहर में हुआ था और वे अल्मा कार्मोना और सैंटियागो मेजा की बेटी हैं. उनकी दो छोटी बहनें हैं. उन्होंने साल 2017 में चिहुआहुआ की ऑटोनोमस यूनिवर्सिटी से सॉफ्टवेयर इंजीनियर की डिग्री ली. 69वां मिस यूनिवर्स (Miss Universe 2020) के परिणाम आ चुके हैं और भारत की एडलाइन कैस्टेलिनो जीत नहीं दर्ज कर सकी. अगर एडलाइन कैस्टेलिनो जीतती तो वे भारती से ऐसा करने वाली तीसरी महिला बनती. भारत से साल 2000 में लारा दत्ता और साल 1994 में सुष्मिता सेन ने ये खिताब अपने नाम किया था.

🛑मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान 'तौकते' (Cyclone Tauktae) के चलते हाई अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवाती तूफान तौकते के अगले तीन घंटे के भीतर गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है. मौसम विभाग के अनुसार, यह 18 मई तक गुजरात तट से टकरा सकता है. मौसम विभाग के अनुसार 'तौकते' अगले 24 घंटे में गंभीर और उसके बाद बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होगा. यह 18 मई की दोपहर से शाम के बीच गुजरात के पोरबंदर से होता हुआ पाकिस्तान की ओर रुख करेगा. तौकते चक्रवात से अबतक कर्नाटक में चार लोगों की मौत हो गई और 73 गांव प्रभावित हैं. मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान तौकते 17 मई की शाम या 18 मई को गुजरात के समुद्री तट से टकरा सकता है. मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि ये तूफान 24 घंटे में और भी खतरनाक हो सकता है. 18 मई की सुबह तक चक्रवात तौकते पोरबंदर और महुवा के बीच से गुजरात तट को पार कर सकता है. 'तौकते' चक्रवात को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक की. बैठक के बाद अस्पतालों में पावर बैकअप बनाए रखने पर जोर दिया. गृह मंत्रालय ने चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए 24×7 कंट्रोल रूम खोल दिया है. साथ ही गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि किसी भी समय एयर फोर्स, नेवी NDRF की और ज्यादा जरूरत पड़े तो केंद्र सरकार हर स्तर पर मदद करने के लिए तैयार है. चक्रवात 'तौकते' के तेजी से गुजरात के तट की तरफ बढ़ने के बीच बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्री मनसुख मांडविया ने 16 मई को देश के पश्चिमी तटीय इलाकों के सभी राज्यों में बंदरगाह और समुद्री क्षेत्र के बोर्ड की तैयारियों की समीक्षा की. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा कि 'तौकते' चक्रवात के मद्देनजर 17 मई और 18 मई को पूरे गुजरात में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण निलंबित रहेगा. सीएम विजय रूपानी ने नागरिकों से 17 मई और 18 मई के दौरान अपने घरों से बाहर न निकलने का अनुरोध किया है. उन्होंने कहा कि पूरे गुजरात राज्य में तूफान के साथ भारी बारिश की संभावना है. कर्नाटक और गोवा के तटीय इलाकों में 16 मई को तबाही मचाने के बाद चक्रवात ‘तौकते’ उत्तर में गुजरात की ओर बढ़ गया. चक्रवात के चलते तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ ही भारी बारिश हुई और समुद्र में ऊंची लहरें उठीं. चक्रवात के कारण हुई घटनाओं की चपेट में आकर छह लोगों की मौत हो गई जबकि सैकड़ों घरों का नुकसान पहुंचा और बिजली के खंभे और पेड़ उखड़ गए. लोगों को घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाना पड़ा. कई इलाकों में बिजली की आपूर्ति बाधित हुई. मौसम विभाग के अनुसार माना जा रहा है कि ये चक्रवाती तूफान तौकते (Cyclone Tauktae) गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकराएगा. महाराष्ट्र, केरल और गुजरात के तटों पर तीन दिन तक तूफान का असर रहने की संभावना है. मौसम विभाग का अनुमान है कि चक्रवाती तूफान के दौरान 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ‘तौकते’ से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के लिए 15 मई 2021 को राज्यों, केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की और संबंधित अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने तथा बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य, पेयजल जैसी जरूरी सेवाओं का प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. केरल, कर्नाटक, गुजरात, गोवा , महाराष्ट्र में रेड अलर्ट जारी है और मछुआरों को समुद्र में जाने से रोका गया है. तूफान की आहट के साथ गुजरात के तटीय इलाके में आज और कल भारी बारिश की आशंका है. आपदा से निपटने के लिए NDRF की 50 टीमें तैनात की गई हैं. गुजरात के कच्छ में तूफान से तबाही की आशंका को देखते हुए प्रशासन अलर्ट पर है. साथ ही तटीय इलाकों के मछुआरों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया गया है. केरल में भी भारी बारिश का दौर जारी केरल में भी तूफान के असर से कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है. केरल में इस चक्रवात की वजह से दो लोगों की मौत हो गई है. अलप्पुझा में भारी बारिश के कारण निचले इलाकों में भर गया है. तटीय इलाके के लोगों को समुद्र से दूर रहने को कहा गया है.

जागरण जोश से साभार

44 views0 comments

Recent Posts

See All
bottom of page