top of page

26.4.21 समसामयकी

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 26 अप्रैल 2021 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से विश्व बौद्धिक संपदा दिवस और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.जागरण जोश से साभार बौद्धिक संपदा संरक्षण हेतु अंतरराष्ट्रीय मानदंडों व मानकों का विकास एवं अनुप्रयोग इस संगठन की गतिविधियों का मूलभूत अंग है. इस दिन, विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (डब्ल्यूआईपीओ) इस दिन को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों और गतिविधियों के आयोजन हेतु अलग– अलग सरकारी एजेंसियों, गैर– सरकारी संगठनों, सामुदायिक समूहों औऱ व्यक्तियों के साथ मिलकर काम करता है. यह संयुक्त राष्ट्र की सबसे पुरानी एजेंसियों में से एक है. गौरतलब है कि डब्ल्यूआईपीओ संयुक्त राष्ट्र के 15 विशिष्ट एजेंसियों में से एक है. इसकी स्थापना 14 जुलाई 1967 को हुई थी. इसका मुख्यालय जिनेवा, स्विट्जरलैंड में है. डब्ल्यूआईपीओ बौद्धिक संपदा की जानकारी के लिये विश्वसनीय वैश्विक संदर्भ स्रोत का काम करता है. भारत और फ्रांस की नौसेनाओं के बीच अरब सागर में 25 अप्रैल 2021 से तीन दिन का मेगा वारगेम शुरू हो गया. हिंद महासागर क्षेत्र में चीन की बढ़ती समुद्री उपस्थिति से बढ़ रही चिंता के बीच इस संयुक्त अभ्यास को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है.



वरुण अभ्यास के 19वां संस्करण में फ्रांसीसी नौसना का विमानवाहक पोत बेहद शक्तिशाली है. इस अभ्यास में फ्रांसीसी नौसेना दल की ओर से विमानवाहक पोत चार्ल्स डि गाउले व सीएसजी के अलावा हॉरिजन, क्लास एयर डिफेंस डेस्ट्रॉयर कैवेलियर पॉल, एक्विटन-क्लास मल्टी मिशन फ्रिगेट प्रूवेंस और कमांड एंड सप्लाई शिप वार को शामिल किया गया है. पद्म भूषण पंडित राजन मिश्रा का 25 अप्रैल 2021 को निधन हो गया. वे 70 साल के थे. उनका जाना संगीत जगत के लिए एक ऐसी क्षति है जिसकी भरपाई कभी नहीं हो पाएगी. दुनिया भर में मौजूद तमाम प्रशंसक इस समय शोक में डूब गए हैं और इस महान हस्ति को श्रद्धांजलि दे रहे हैं. उन्होंने 1978 में श्रीलंका में अपना पहला संगीत कार्यक्रम किया. जिसके बाद उन्होंने जर्मनी, फ्रांस, स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रिया, संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, नीदरलैंड, यूएसएसआर, सिंगापुर, कतर, बांग्लादेश समेत दुनिया भर के कई देशों में प्रदर्शन किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सभी मंत्रालयों और विभागों को ऑक्सीन और मेडिकल आपूर्ति की उपलब्धता बढ़ाने के लिए तालमेल बिठाकर काम करने की जरूरत है. साथ ही कस्टम्स से जुड़े अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जीवन रक्षक दवाओं और ऑक्सीजन उपकरणों समेत महत्वपूर्ण इंपोर्ट कंसाइनमेंट को प्राथमिकता के आधार पर क्लियरेंस दें. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेमडेसीविर और एपीआई पर मूल सीमा शुल्क में छूट की घोषणा की. उन्होंने कहा कि मरीजों को ऑक्सीजन प्रदान करने वाले उपकरणों के आयात में तेजी लाने की जरूरत है. प्रधानमंत्री ने कहा कि तीन महीने की अवधि (31 जुलाई 2021) के लिए ऑक्सीजन और ऑक्सीजन से संबंधित उपकरणों से जुड़ी वस्तुओं के आयात पर मूल सीमा शुल्क और स्वास्थ्य सेस को पूरी तरह से हटाया जा रहा है.


53 views0 comments

Recent Posts

See All
bottom of page