top of page

7.5.21 समाचार विचार

जागरण जोश से साभार।आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से विश्व चौधरी अजित सिंह और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं. आरएलडी प्रमुख चौधरी अजित सिंह 22 अप्रैल 2021 को कोरोना संक्रमित हुए थे. इसके बाद से ही उनके फेफड़े में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा था. 04 मई को अजित सिंह की तबीयत ज्यादा खराब हो गई थी. इसके बाद उन्हें गुरुग्राम के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अजित सिंह पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के बेटे थे. चौधरी अजित सिंह ने साल 1986 से अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की थी. वे साल 1986 में राज्यसभा भेजे गए थे. 1987 से 1988 तक लोकदल (ए) और जनता पार्टी के अध्यक्ष पद भूमिका निभाई. 1989 में अपनी पार्टी का विलय जनता दल में कर दिया. यह जीवाश्म लगभग 100 मिलियन वर्ष पुराना है. ये नवीनतम खोजें, जिन्हें अभी प्रकाशित किया जाना है, हाल ही में पूर्वोत्तर क्षेत्र में भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के पैलेऑन्टोलॉजी डिवीजन के शोधकर्ताओं द्वारा एक क्षेत्ररक्षण यात्रा के दौरान की गई थीं.



सोरोपोड्स डायनासोर अपने शरीर के बाकी हिस्सों के सापेक्ष एक बहुत लंबी गर्दन, छोटे सिर, लंबी पूंछ और चार-मोटी स्तंभ जैसी पैरों वाले डायनासोर थे. टाइटैनोसौर सोरोपोड डायनासोर का एक विविध समूह था. उनमें एशिया, अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, यूरोप और अंटार्कटिका से जेनेरा शामिल थे. यह समझौता-ज्ञापन भारत सरकार और ब्रिटेन की महारानी की सरकार (इंग्लैंड, वेल्स, स्कॉटलैंड और आयरलैंड) तथा उत्तरी आईलैंड के बीच है. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने प्रवासन और आवागमन भागीदारी समझौते पर दस्तखत के बाद कहा कि इस करार से दोनों देशों के बीच रिश्ते और प्रगाढ़ होंगे. इस समझौता-ज्ञापन से भारतीय छात्रों, शिक्षाविदों और शोधकर्ताओं, पेशेवरों और आर्थिक कारणों से प्रवास करने वाले लोगों को लाभ मिलेगा. इससे उन लोगों को भी लाभ होगा, जो जाति, आस्था, धर्म या लैंगिक विचारों को दरकिनार करके दोनों देशों के बीच आर्थिक विकास के लिये विभिन्न परियोजनाओं के जरिये स्वेच्छा से योगदान करना चाहते हों. विजय राघवन के अनुसार, नए म्यूटेंट से निपटने के लिए वैक्सीन को अपडेट करना ज़रूरी था. वह मानते हैं कि वायरस ने जब म्यूटेट करना शुरू किया उसके बावजूद इसके संक्रमण को रोकने के लिए लोगों द्वारा अपनाई जा रही सावधानियों में कोई बदलाव नहीं किया गया. उन्होंने कहा कि हमें कोविड के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए वैक्सीन लगवाना चाहिए. वैज्ञानिक सलाहकार ने यह भी कहा कि वायरस के स्ट्रेन पहले स्ट्रेन की तरह की फैल रहे हैं. इनमें नई तरह के संक्रमण का गुण नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा वेरिएंट्स के खिलाफ वैक्सीन प्रभावी हैं. देश और दुनिया में नए वेरिएंट्स आएंगे. उन्होंने यह भी कहा कि एक लहर के खत्म होने के बाद सावधानी में कमी आने से वायरस को फिर से फैलने का मौका मिलता है.

2

जर्नल जियोफिजिकल रिसर्च में 03 मई 2021 को प्रकाशित एक अध्ययन में, वैज्ञानिकों ने इस तथ्य का खुलासा किया है कि, सूर्य के 11 साल के चक्र में, सौर चक्र के दौरान शुक्र के ऊपरी वातावरण में बहुत बदलाव आया है. नासा की पार्कर सोलर प्रोब (सौर जांच) द्वारा, जुलाई, 2020 में शुक्र ग्रह के निकट एक संक्षिप्त स्विंग के दौरान, शुक्र ग्रह के ऊपरी वायुमंडल की जांच से प्राकृतिक रेडियो सिग्नल का पता चला है. नासा की पार्कर सौर जांच के प्रमुख निष्कर्ष • लगभग 30 वर्षों के बाद, वीनस/ शुक्र ग्रह के ऊपरी वातावरण में जुलाई, 2020 में पार्कर की फ्लाईबाई के दौरान, शुक्र के वायुमंडल का पहला प्रत्यक्ष माप प्राप्त करने में मदद मिली. • इससे पहले, नासा के पायनियर वीनस ऑर्बिटर वर्ष, 1978 से वर्ष, 1992 तक और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने वर्ष, 2005 से 2014 तक वीनस एक्सप्रेस ने शुक्र की परिक्रमा की थी. • 30 साल के बाद वर्ष, 2020 में एक फ्लाईबाई के दौरान, वैज्ञानिकों ने ऐसा डाटा प्राप्त किया है जो शुक्र ग्रह के वातावरण के घनत्व की गणना करने में उनकी मदद करता है. • वैज्ञानिकों ने यह भी जाना कि शुक्र का आयनमंडल सूर्य के सौर चक्र के अनुसार बदलता है. सौर चक्र में अधिकतम दूरी की तुलना में न्यूनतम दूरी के दौरान वीनस का यह आयनमंडल पतला होता है. • ग्रह की सतह के 517 मील के भीतर आने पर प्रोब ने शुक्र की एक छवि भी ली. नासा की पार्कर सौर जांच का महत्त्व



• पार्कर सोलर प्रोब को वर्ष, 2018 में सूर्य के विश्लेषण के लिए एक सौर मिशन के तौर पर लॉन्च किया गया था. इस जांच की उड़ान शुक्र ग्रह के गुरुत्वाकर्षण के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए प्रोग्राम की गई थी ताकि यह जांच उड़ान सूर्य के करीब से गुजर सके. हालांकि, यह शुक्र ग्रह के वायुमंडल के बारे में नए तथ्यों पर अभी निश्चित तौर पर कुछ भी नहीं बताती है. • दोनों, पृथ्वी और शुक्र आकार में चट्टानी और समान हैं, हालांकि, किन्हीं कारणों से इन दोनों ग्रहों के गठन के दौरान इनके प्रक्षेपवक्र को अलग करने के लिए इन दोनों ग्रहों में कुछ अंतर हो गया. पार्कर प्रोब द्वारा एकत्र किया गया डाटा वैज्ञानिकों को यह समझने में सहायता कर रहा है कि पृथ्वी और शुक्र ग्रहों को जुड़वाँ कहे जाने के बावजूद किन कारणों से इन दोनों ग्रहों में इतना अंतर है. • एक अंतरिक्ष यान के साथ शुक्र ग्रह के बारे में पता लगाना बेहद मुश्किल है क्योंकि इसमें चुंबकीय क्षेत्र की कमी है और इसका अति उच्च तापमान किसी भी धातु को पिघलाने के लिए पर्याप्त है. • इसलिए, वैज्ञानिक वीनस पर पार्कर जांच के उदाहरणों से इस ग्रह के बारे में अद्वितीय अंतर्दृष्टि और वैज्ञानिक डाटा इकट्ठा करने के अवसरों के रूप में देखते हैं.


3

भारत में कोविड - 19 महामारी की इस दूसरी लहर ने S&P को इस वित्तीय वर्ष में 11 प्रतिशत GDP वृद्धि के अपने पिछले पूर्वानुमान पर पुनर्विचार करने के लिए प्रेरित किया है. S&P ग्लोबल रेटिंग्स एशिया-पैसिफिक के मुख्य अर्थशास्त्री शॉन रोचे ने यह कहा है कि, " कोविड मामलों के चरम का समय, और बाद में गिरावट की दर, हमारे विचारों को प्रेरित करते हैं." भारत में COVID -19 वेरिएंट संक्रमण के मामलों की बढ़ती संख्या और सीमित टीकाकरण प्रक्रिया जून के अंत में संक्रमण दर में आने वाले चरम की ओर इशारा करता है. इस चरम का फंडिंग और क्रेडिट की स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव हो सकता है, इस अध्ययन में यह उल्लेख किया गया है. चीन ने आस्ट्रेलिया से व्यापारिक समझौतों पर चल रही सभी गतिविधियों पर अनिश्चितकाल के लिए रोक लगा दी है. चीन ने कहा है कि वह सभी व्यापारिक वार्ताओं को भी निलंबित रखेगा. चीन ने आस्ट्रेलिया से कोयला, आयरन, गेहूं, वाइन सहित कई सामान के आयात को भी फिलहाल बंद कर दिया है.



आस्ट्रेलिया ने साल 2019 में कोरोना की शुरूआत को लेकर वायरस की उत्पत्ति के मामले में जांच की मांग की थी. चीन के उसी समय संबंध तनावपूर्ण हो गए थे. उसने आस्ट्रेलिया से कई सामानों के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया था. अभी भी आयरन जैसे कई अन्य वस्तुओं का आस्ट्रेलिया से आयात कर रहा था. आईडीबीआई बैंक में केंद्र सरकार और भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की कुल हिस्सेदारी 94 प्रतिशत से ज्यादा है. एलआईसी के पास बैंक के 49.21 प्रतिशत शेयर हैं और साथ ही वह उसकी प्रवर्तक है एवं उसके पास बैंक के प्रबंधन का नियंत्रण है. गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021-22 का बजट पेश करते समय घोषणा की थी कि चालू वित्त वर्ष के विनिवेश कार्यक्रम में सार्वजनिक क्षेत्र के कुछ बैंकों (पीएसबी) का निजीकरण भी किया जाएगा. बजट में विनिवेश से 1.75 लाख करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य है. कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण केरल में 8 मई से 16 मई की सुबह 6 बजे तक राज्य में लॉकडाउन का घोषणा किया गया है. यह घोषणा केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने की. मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने केरल की स्थिति को गंभीर बताया और कहा कि कोविड की वृद्धि को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने होंगे. भारत में कोरोना वायरस के मामले प्रत्येक दिन एक नया रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं और 06 मई 2021 को संक्रमण के 4,12,262 नए मामले दर्ज किए गए तथा 3,980 लोगों ने जान गंवाई. हाराष्ट्र, बिहार और ओडिशा समेत कुछ राज्यों में पहले से ही लॉकडाउन लगा दिया गया है, अब केरल और राजस्थान ने भी पूर्ण लॉकडाउन का घोषणा किया है.


62 views0 comments

Recent Posts

See All
bottom of page